अंजीर के गुण एवं फायदे

अंजीर के गुण एवं फायदे 


अंजीर क्या है ❓

दुनियाभर में अंजीर को औषधीय और खाने का स्वाद बढ़ाने के गुणों के लिए जाना जाता है। इसके कुरकुरे और मीठे फल का उपयोग कई वर्ष से किया जाता है। पुराने समय में अंजीर की खेती की जाती थी।  इतना ही नहीं अंजीर का उल्लेख बाइबिल में भी मिलता है।  अंजीर रसीला और गूदेदार फल होता है।




अंजीर के वारे में तथ्य 


  • वानस्पतिक नाम - फिकस केरिका 
  • वंस                   - मोरेसी 
  • संस्कृत नाम      -  अंजीराम्
  • सामान्य नाम     -  फिग , कॉमन फिग, अंजीर 
  • उपयोगी फल    - फल, पत्तियां, छाल और जड़  
  • गुण                  - शीतल 


अंजीर में पाए जाने बाले गुण 



1. अंजीर में प्रोटीन (5.5% ), सैल्यूलोज (7. 3 %),कार्बोहैड्रेट (63 %),मिनरल साल्ट (3 %),पानी (20. 8 %),एसिड (1. 2 %),फैट (0. 5 %),कोलेस्ट्रॉल (0 %) इत्यादि पाया जाता है।

2. इसके आलावा इसमें विटामिन A ,विटमिन B1व्   B2 पाई जाती है।

3 अंजीर में  कैल्शियम ,मैग्नीशियम , आयरन ,क्लोरिन ,सोडियम ,पोटेसियम,व गोंद भी पाया जाता है।

4. स्वस्थ्य   के लिए अंजीर को बहुत ही अच्छा माना  गया है , अंजीर में 28 % से ज्यादा फाइबर होता है जो हाई ग्लूकोज़ व् कोलेस्ट्रॉल के लेवल को नियंत्रित करता है।

5. अंजीर का रंग जितना गहरा होता है उतना ही फायदेमंद होता है।


अंजीर के फायदे 

1. 5 -6 (बड़ों के लिए ) अंजीर को उसके टुकड़े करके 250 मि. ली.  पानी में रोजाना भीगा दें। सुबह उस पानी को आधा कर के पी जाएं। पीने के बाद अंजीर चबाकर खाएं तो थोड़े ही देर में कब्जियत दूर व पाचन सकती मजबूत होगी। 

2. शारीरिक दुर्बलता को कम करने के ले लिए हम अंजीर का कच्चा सेवन  कर सकते हे या फिर सूखे हुए अंजीर को दूध में अच्छे से पका कर सेवन ककर सकते है। अंजीर हमारी शारीरिक दुर्बलताओं को कखत्म करता है और बलशाली बनाता है। 

3. अंजीर को दूध में पका कर सेवन करने से स्नायु दुर्बलता को काम करता है। 

4. अंजीर को शक्तिशाली  फल के रूप में जानते है। अंजीर को दूध के साथ लेने से यौन सकती बढ़ती है। 

5. ताजे अंजीर में विटामिन A अधिक मात्रा में पाया जाता है जबकि विटामिन B और विटामिन C काम मात्रा में पाया जाता है। 

6. अंजीर के उपयोग से दिल के मरीजों को बड़ी राहत मिलती है। 

7.  अंजीर का इस्तेमाल बेकिंग में किया जाता है। जैसे केक ,पुडिंग,व जैम अदि वनाने  में किया जाता है। 

8. ताजी  अंजीर के मुकाबले सुखी अंजीर में ज्यादा शुगर की मात्रा होती है।  इसलिए यदि आप घर में कोई मीठा व्यंजन बना रहे हो तो चीनी की जगह  इसका उपयोग कर सकते है। 


9.  दलीया  बनाते समय भी इसका उपयोग होता है।

10. आप  सूखी अंजीर को सूप में दाल सकते है और साथ ही मीट में दाल सकते हे उसका स्वाद बढ़ाने के लिए।



अंजीर से नुकसान 

1. प्रतिदिन २-३ अंजीर खाना पर्याप्त है। इसे रत भर पानी में भिगोकर अगली सुबह खाना चाहिए। यदि अंजीर को बिना भिगोए या जरूरत से ज्यादा खाया जाता है तो शरीर में गर्मी हो सकती है और नक् से खून भी निकल सकता है।


2. किसी-किसी को अंजीर खाने से एलर्जी भी हो सकती है। इसलिए इसे खाने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ले लें।

3.  अधिक अंजीर खाने से बजन घटने की जगह बड़  सकता है।

4. अगर इसे ज्यादा खाया जाए तो दांत सड़  सकतें है। डायबिटीज के मरीज को अपने डॉक्टर से सलाह ले कर इसे  खाना चाहिए।




तुलसी के उपयोग को पड़ने के लिए (click here)