हकलाने और तुतलाने का इलाज

हकलाने और तुतलाने  का इलाज





    
              
                    1. बच्चे यदि रोजाना एक तजा हरा आंबला खा तो जीभ पतली आवाज साफ़ हो जाती है। इससे हकलाना भी बंद हो जाता है। मुख की गर्मी भीदूर हो जाती है। 


                     2. बादाम की गिरी 7 ,काली मिर्च दोनों को कुछ बूंदे पानी में घिसकर चटनी से बना ले और थोड़ी सी मिश्री मिला ले। प्रातः खली पेट पंद्रह दिनों तक ले। तुतलाना और हकलाना दूर हो जाएगा। 


                      3. प्रातः मख्खन में काली मिर्च मिला कर खाने से कुछ ही दिनों में हकलाहट दूर हो जाती है। 


                       4. तेजपात को जीभ के नीचे रख कर बोलने से भी आराम मिलता है। 
तेजपत्ता 



                        5. फूला हुआ सुहागा शहद में मिलकर जीभ पर रगङने से हकलाना बंद हो जाता है। 


                        6. मीठी वच ,मीठी कूट ,असगन्ध और छोटि  बराबर मात्रा में मिलाकर चूर्ण बना ले। रोजाना 1 ग्राम चूर्ण शहद में मिलकर चाटने से आवाज साफ होती है। 


                        7. हरी धनिया और  अमलतास के गूदे को पानी में  पीसकर और उसी पानी से लगातार 21 दिन तक कुल्ला करने से जीभ पतली होकर हकलाहट दूर हो जाती है